Mobile Banking में ऐसे होता है ठगी का खेल, जानिए- धोखेबाजों से कैसे बचें


बैंक जाने की भागदौड़ से बचने के लिए नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल तेजी से बढ़ा है। मोबाइल बैंकिंग से आप महज एक क्लिक भर से ट्रांजेक्शन करने में सक्षम होते हैं, लेकिन कई बार मामूली लापरवाही ही बड़ा खेल कर जाती है और आपको हजारों या लाखों का नुकसान उठाना पड़ सकता है। मोबाइल बैंकिंग करते वक्त कई ऐसी सावधानियां भी हैं, जिनकी ओर शायद ही कभी आपने ध्यान दिया हो

  1. एसएमएस और ईमेल पर आए लिंक के जरिए कभी भी कोई एप डाउनलोड न करें। इसकी कीमत आपको बैंक में जमा राशि के सफाये के तौर पर चुकानी पड़ सकती है। इसके अलावा किसी भी थर्ड पार्टी एप स्टोर से कोई एप डाउनलोड करने से परहेज करें।
  2. यदि आप मोबाइल बैंकिंग करते हैं तो अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए यह जरूरी है कि किसी भी अज्ञात स्रोत से फ्लैश प्लेयर एप्लिकेशन न इंस्टॉल करें और न ही खोलें।
  3. किसी भी एप को डाउनलोड करने से पहले उसके द्वारा मांगी गई परमिशन्स के बारे में भी जान लें। परमिशन को न पढ़ने की जरा सी देर की लापरवाही आपको कभी न भूलने वाला नुकसान दे सकती है।
  4. यदि आप कोई एप डाउनलोड कर रहे हैं और उसकी ओर से एडमिन राइट्स की मांग की जाती है तो फिर उसे तुरंत अनइंस्टॉल करें या फिर डिलीट कर दें।
  5. अपने मोबाइल ओएस सिस्टम को अपडेट रखें।
  6. आमतौर पर हम मोबाइल एंटी-वायरस का इस्तेमाल नहीं करते हैं, लेकिन सुरक्षित बैंकिंग के लिए यह जरूरी है।
  7. बैंक के बारे में कोई जानकारी उसकी वेबसाइट या एप से मिले तभी भरोसा करें। सिर्फ गूगल सर्च के भरोसा रहना रिस्की हो सकता है क्योंकि कई बार ठग आपके गूगल सर्च को ट्रैक करते हैं और उसके जरिए आपसे ठगी की कोशिश करते हैं।

Post a Comment

0 Comments